पढाई के समय ध्यान केन्द्रित करने के 11 तरीके – एकाग्रता बढ़ाने के उपाय

June 28, 2019 Education, Exam Tips
Share it :

dhyan kendrit karne ka tarika : ध्यान केन्द्रित करना यानि एकाग्रता बढ़ाना सभी student के लिए जरुरी है. क्युकी मैं खुद एक अध्यापक होने की वजह से ये समझ पाया हु की 10 में से 6 -7 छात्रों की ये परेशानी रहती है की पढाई में मन नहीं लगता, या फिर पढाई के समय ध्यान केन्द्रित नहीं रहता. कुछ भी पढ़े मन एकाग्र होने की बजे अहिं तहीं भटकता रहता है. परिणाम ये होता है की परीक्षा में पास होना भी मुश्किल बन जाता है. सवाल भी करते है की हमें एकाग्रता बढाने के उपाय बताये. हमें tips दे की अध्ययन के समय ध्यान केन्द्रित कैसे करे. आज मैं सभी छात्रो के लिए कुछ तरीके – उपाय बता हु हु जिससे कंसंट्रेशन बढ़ाने में आपको सहायता मिलेगी. आप समझ पाएंगे की पढ़ाई में ध्यान कैसे लगाएं और पढ़ाई में मन कैसे लगेगा.

how to increase concentration power in hindi

पढ़ने और अध्ययन पर ध्यान केंद्रित करने के लिए लिए कुछ अभ्यास की आवश्यकता होती है, और कुछ चीजो को बदलना पड़ता है. जैसे ही आप कुछ जटिल ( जैसे Maths, social science ) अध्ययन करने के लिए बैठते हैं वैसे ही एकाग्रता नहीं होती है। आप पहले से ही अपने व्यक्तिगत पसंद , आपकी अभिरुचि और अध्ययन कक्ष के वातावरण के लिए आवश्यकताओं को समझना होता हैं।

ध्यान केन्द्रित कैसे करे akagrata badhane ke upay

पढाई के समय ध्यान केन्द्रित करने के तरीके

यहाँ कुछ tips दिए है. इसे पढ़े और समझे. बाद में इस तरीको को अपनी पढाई के दौरान अपनाये. हो सकता है सबकुछ एक साथ ना हो पाए. लेकिन प्रतिदिन कुछ ना कुछ सुधार करते रहे. आपकी एकाग्रता बढाने की प्रेक्टिक शुरू रखे. आखिर में आपको अभ्यास में फायदा मिलेगा.

  1. सभी कार्य अधिक ध्यानपूर्वक करें, उदाहरणतः जब आप पढ़ रहें हो तो ‘‘केवल पढ़ें’’, जैसे कोई कोई वाहन चला रहें तो ‘‘केवल वाहन चलायें’’। खुद से कहें कि आप ही को किसी विषय विशेष पर ध्यान केन्द्रित करना है और आप ही खुद को, मन को भटकने ना।
  2.   प्रत्येक कार्य और कोई भी कार्य करते हुए उसमें अपना पूरापन उड़ेल दें, कुछ भी करते समय उसमें गलती की संभावना को न्यूनतम करते हुए शून्य पर लायें।
  3.   विचारों को स्पष्ट रखें। लिखकर मिटाना या कागज फाड़ कर फेंक देना एक गंदा व्यवहार है। किसी बात को उसकी पूरी स्पष्टता से सोचें, शब्दों को आप अपनी विशिष्ट शैली में अनुक्रम दें, वाक्य बनायें और लिख डालें। किसी शब्द की संरचना के लिए डिक्शनरी की मदद लेने में संकोच ना करें।
  4. अपनी पठन क्षमता या पढ़ने की सामथ्र्य बढ़ायें। प्रत्येक वाक्य का अर्थ समझते हुए ज्यादा से ज्यादा तेजी से पढ़ने की कोशिश करें, ताकि पूरे पैराग्राफ का एक निचोड़ वाक्य स्पष्ट रहे। जितना ही समय कम लगेगा, दिमाग ज्यादा केन्द्रित होगा।
  5. किसी भी चीज का गहराई से विश्लेषण करें। हम किसी भी बात को गंभीरता, गहराई से नहीं देखते, यहां तक कि हम कार्य करते वक्त परिवेश का भी ध्यान नहीं रखते। तो किसी भी चीज पर ध्यान केन्द्रित करते समय समग्रतापूर्व दृष्टि रखें।
  6. अपने आसपास घट रही घटनाओं, चीजों पर नजर रखें कि कब, कहां, कैसे, क्या हो रहा है पर उन्हें अपने वर्तमान काम के आड़े ना आनें दें, और वर्तमान विषय को ही प्रमुखता दें। देखें कि व्यवधान, बाधा क्या है, ध्यान भटकने के क्या कारण हैं।
  7. किसी बड़े और कठिन लक्ष्य को सामने रखने पर घबराहट के कारण मन भटकता है, नकारात्मक विचार आते हैं। तो अपने बड़े लक्ष्य के छोटे छोटे हिस्से करें, इतने छोटे कि कुछ मिनटों या घंटों में उस लक्ष्य के प्रति कुछ कार्य कर सकें।
  8. उन छोटे-छोटे कार्यों को सम्पन्न करते जायें, यही जुड़कर उस बड़े लक्ष्य को सम्पन्न कर देंगे। याद रखें समतल रास्ते तय करने हों या एवरेस्ट हम एकत्र-एक कदम चल कर ही दूरी तय कर सकते हैं।

पढ़ते समय ध्यान केन्द्रित करने के तीन चरण

  • 1. पता लगायें कि कारणों से आपका ध्यान भटक रहा है, ना तो बार-बार उठ जायें ना ही जम कर बैठ जाने का संकल्प लेकर खुद से जबर्दस्ती करें।
  • 2. भटकाने वाले विचारों को देखते चले जायें और इस बात को समझें कि आप इन कारणों को दूर करने की बजाय वर्तमान विषय का अध्ययन कितना महत्वपूर्ण है।
  • 3. किसी विषय पर पूर्वधारणा बनाने, स्वीकारने या नकारने की बजाय उस सारी बात को समझ लेने की आदत बना लें।

आपको ये भी पढ़ना चाहिए : अभ्यास – पढ़ाई में मन कैसे लगाये ?

एकाग्रता बढ़ाने के उपाय

यहाँ कुछ ऐसे तरीके दिए है जो आपके मन को शांत करके पढाई की ओर प्रेरित करेंगे. इसे आप motivational tips भी कह सकते है.

  • अध्ययन खंड की व्यवस्था में बदलाव करे.

अपनी मेज पर आवश्यक न्यूनतम किताब कॉपियों ही रखें। अन्य आवश्यक चीजों को अपने आसपास ही जरुरत के हिसाब से से व्यवस्थित कर लें।

मेज कुर्सी ज्यादा छोटी या बड़ी ना हो। मेज पर पढ़ने लिखने हेतु पर्याप्त स्थान हो । कुर्सी असुविधाजनक या बहुत ही आरामदायक ना हो।

शांत स्थान में आप अधिक ध्यान केन्द्रित कर पढ़ लिख सकते हैं। कमरे को बंद करके बैठना या शांत स्थान जैसे पुस्तकालय आदि अच्छे विकल्प हैं।

  • पढ़ाई का सही समय तय करे

जागने के तुरन्त बाद पढ़ने ना बैठ जायें, हल्के फुल्के व्यायाम के बाद, उच्च प्रोटीन वाला पर हल्का फुल्का नाश्ता करें और चुस्तदुरूस्त होकर पढ़ने बैठे। स्वस्थ भोजन से स्वस्थ शरीर और स्वस्थ शरीर से पैदा ताजगी से स्फूर्त मन आसानी से एकाग्र हो सकता है।

पढाई करने का सबसे बेस्ट समय सुबह का है. जीतन हो सके आप सुबह में ज्यादा पढाई करे. इस समय आपको डिस्टर्ब करने वाली परिस्थिति कम से कम होगी.

  • मन को पढाई के लिए तैयार करे

एकाग्रता का सीधा सबंध मन से है. अगर आपका मन ही कही भटक रहा है तो लाख कोशिस करने के बाद भी मन को केन्द्रित नहीं कर पाएंगे. इसके लिए आपके subject में रूचि उत्त्पन्न करना आपका पहला काम है. जैसे की आप science को सिर्फ पढ़ने की बजाय प्रोजेक्ट वर्क से ज्यादा रुचिपूर्ण बना सकते है.

संसार की कोई भी ऐसी बात नहीं जो कि हम पूरी और समग्रतः जानते हैं। तो किसी चीज को सीखने, जानने, समझने के भाव से उसके निकट जाने पर बोरियत, अरूचि, नापसंदगी नहीं होगी।

  • किसी काम को अधूरा ना छोड़े

जब भी आप पढाई करने बैठे आज क्या क्या पढ़ना है? इसकी तैयारी के साथ बैठे. पढाई का daily time table तैयार करे.

ऐसे विषय का पठन पाठन जिसे आप पहले भी पढ़ चुकें हैं जो समझ नहीं आया था ऐसा जानकर उसे ना छोड़ें। एक नये उत्साह से जितना समझ में आया था उसके आगे कि ओर ले जाए। खुद से सवाल करे की इसमे क्या कमियां रह गयी थी. इसे ठीक करने का फिर से नए उत्साह के साथ प्रयास करे.

  • चिंता और अन्य विचारो को दूर करे.

आप संसार में रहते है, हम एक सामाजिक प्राणी है. पढ़ी के साथ साथ और बहुत कुछ हमारे विचारो में रहता है. ये सब स्वाभाविक है लेकिन काम से काम रखे. जब पढाई का समय है सिर्फ पढाई करे.

अगर आप किसी समस्या से जूज रहे है तो अपने friends , पेरेंट्स के साथ बैठकर सुलझाये. कैसे भी करके अपने बन को अन्य विचारो से खली कर दे.

पढ़ते लिखते समय निजी चिन्ताओं, विचारों, सपनों से खुद को यह जानकर दूर करें कि तात्कालिक विषय को जानने-समझ लेने से हमें अन्य चिंताओं, विचारों को समझने में भी मदद मिलेगी और सपने भी हकीकत हो सकेंगे। तात्कालिक विषय या समस्या को ही समझने, जानने और सम्पन्न करने से अन्य समस्याएं स्वतः हल हो जावेंगी।

एक और जरुरी लेख आपके लिए : जल्दी याद करने के 15 उपाय

यहाँ आपको मैंने ऐसे तरीके बताये है जो वास्तव में आप अपनी पढाई के साथ अपना सकते है. और इससे आपको पढाई के समय ध्यान केन्द्रित करने में सहायता मिलेगी. इन एकाग्रता बढ़ाने के उपाय को वास्तव में अपनी दिनचर्या में अपना ले. sure आपको अध्ययन में सहायता मिलेगी.

  • हमसे सवाल पूछे :

हो सकता है आपके साथ इसके आलावा और कोई समस्या हो. हमें आपकी समस्या या सवाल जरुर बताये. हम आपके मन को एकाग्र करने में आपकी सहायता करेंगे. एक सर्वे के अनुसार व्यक्ति अपनी ज्यादातर समस्या ये लेकर इसलिए घूम रहा होता है की उसने अपनी प्रॉब्लम को दूसरो के साथ शेयर नहीं किया है. आप ऐसा ना करे और आपके सवाल – समस्याए हमें comment बताये.

इस आर्टिकल को पढने के लिए धन्यवाद…. अपने दोस्तों के साथ facebook – whatsapp पर जरुर शेयर करे.

Leave a Reply