कसरत का महत्व – व्यायाम के लाभ

April 20, 2019 Health Tips, Life Planning, Yoga
Share it :
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कसरत का महत्व निबंध : क्या आप नियमित कसरत – व्यायाम करते है. अगर करते है तो आपको पता होगा की हमें व्यायाम से exercise benefits क्या है. कसरत से physiological and psychological benefits, social benefits, emotional, mental health जैसे कई लाभ व्यायाम से होते है. यहाँ आपको नियमित कसरत का महत्त्व और लाभ बताये गए है. योग – प्राणायाम भी व्यायाम का ही हिस्सा है और इससे स्वस्थ जीवन के कई लाभ होते है.

व्यायाम को किसी भी Body movement के रूप में परिभाषित किया जाता है जो आपकी मांसपेशियों के साथ काम करता है और आपके शरीर को कैलोरी जलाने की आवश्यकता होती है।इसमे सभी प्रकार की movement जैसे की तैराकी, दौड़ना, टहलना, चलना और नृत्य सहित कई प्रकार की शारीरिक गतिविधियाँ हैं। ये सभी व्यायाम के ही प्रकार है. व्यायाम से शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। यह आपको लंबे समय तक जीने में भी मदद कर सकता. रोगों के संक्रमण से लड़ने की ताकत देता है. दैनिक जीवन में कसरत का महत्व समझ लेना और इसका अनुसरण करना लम्बे जीवन की गारंटी है.

महात्मा गांधी ने कहा है, ‘आरोग्य का अर्थ है तन्दुरुस्त शरीर। अखाड़े की कसरत से मनुष्य दीर्घायु या श्रम-सहिष्णु बनता ही है, ऐसा नहीं है। लोग शरीर से पहलवान होते हुए भी हृदय से कायर हो सकते हैं। आसन और प्राणायाम का उद्देश्य शरीर को भोगी नहीं, बल्कि शुद्ध बनाना है। इनसे कितनी ही बीमारियां दूर होती हैं। उत्तम से उत्तम कसरत है खुली हवा में तेजी से घूमना। चलते समय मुंह बंद होना चाहिए और सांस नाक के जरिए लेना चाहिए। शरीर को इतना श्रम अवश्य करना चाहिए कि रात को जब मनुष्य बिस्तर पर जाए, वह तुरंत निद्रावश हो जाए।’

कसरत का महत्व – स्वास्थ्य लाभ क्या हैं?

हम सभी कई बार सुन चुके हैं – नियमित व्यायाम आपके लिए अच्छा है, और इससे आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है। लेकिन अगर व्यस्त हैं या फिर आपके पास एक गतिहीन नौकरी है, जहाँ से आपको व्यायाम के लिए समय नहीं मिल रहा है. तो आप अभी धीरे-धीरे व्यायाम शुरू कर सकते हैं, और अपने जीवन में अधिक शारीरिक गतिविधि फिट करने के तरीके खोज सकते हैं। सबसे अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए, आपको अपनी उम्र के आधार पर व्यायाम के तरीको को अपनाने का का प्रयास करना चाहिए। यदि आप व्यायाम करने लगेंगे तो बेहतर महसूस करेंगे, कई बीमारियों को रोकने या नियंत्रित करने में मदद करेंगे. यहाँ हमने कसरत का महत्त्व दर्शाया है. इससे होनेवाले लाभ आप यहाँ से पढ़ सकते है.

Benefits of Exercise in Hindi

The Top 10 Benefits of Exercise in Hindi

 1.  नियमित रूप से व्यायाम करने से वजन को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी । आहार के साथ-साथ व्यायाम आपके वजन को नियंत्रित करने और मोटापे को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अपने वजन को बनाए रखने के लिए, आप जो कैलोरी खाते हैं और पीते हैं वह आपके द्वारा जलाए जाने वाली ऊर्जा के बराबर होना चाहिए। मतलब आप जितना खाते है इसी के आधार पर ऊर्जा का इस्तेमाल करे और कैलोरी को जलाए. तो आपको मोटापे से राहत मिलेगी.

  2. हृदय रोगों के अपने जोखिम को कम करें। व्यायाम आपके दिल को मजबूत बनाता है और आपके परिसंचरण में सुधार करता है। बढ़ा हुआ रक्त प्रवाह आपके शरीर में ऑक्सीजन के स्तर को बढ़ाता है। यह उच्च कोलेस्ट्रॉल, कोरोनरी धमनी रोग और दिल के दौरे जैसे दिल की बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद करता है। नियमित व्यायाम भी आपके रक्तचाप और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम कर सकता है।

  3. अपने शरीर को रक्त शर्करा ( रक्त में ग्लूकोज़ की मात्रा )और इंसुलिन के स्तर का प्रबंधन करने में मदद मिलेगी। व्यायाम आपके रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकता है और आपके इंसुलिन को बेहतर काम करने में मदद कर सकता है। यह चयापचय सिंड्रोम और टाइप 2 मधुमेह (Type 2 diabetes) के लिए आपके जोखिम को कम कर सकता है। और यदि आपके पास पहले से ही उन बीमारियों में से एक है, तो व्यायाम आपको इसे प्रबंधित करने में मदद कर सकता है।

  4. धूम्रपान छोड़ने में आपकी सहायता करें। व्यायाम आपके धूम्रपान को कम करने और लक्षणों को कम करके धूम्रपान छोड़ना आसान बना सकता है। जब आप धूम्रपान करना बंद कर देते हैं तो यह आपके वजन को सीमित करने में मदद कर सकता है।

  5. अपने मानसिक स्वास्थ्य और मनोदशा में सुधार करें। व्यायाम के दौरान, आपका शरीर उन रसायनों को छोड़ता है जो आपके मूड को बेहतर कर सकते हैं और आपको अधिक आराम का अनुभव करा सकते हैं। यह आपको तनाव से निपटने और अवसाद ( Depression ) के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

  6. अपनी सोच, सीखने और निर्णय कौशल को तेज रखने में मदद करें। व्यायाम आपके शरीर को प्रोटीन और अन्य रसायनों को छोड़ने के लिए उत्तेजित करता है जो आपके मस्तिष्क की संरचना और कार्य में सुधार करते हैं।

   7. अपनी हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत करें। नियमित व्यायाम से बच्चे और किशोर मजबूत हड्डियों का निर्माण कर सकते हैं। बाद में जीवन में, यह उम्र के साथ आने वाले अस्थि घनत्व के नुकसान को भी धीमा कर सकता है। मांसपेशियों को मजबूत करने वाली गतिविधियाँ करने से आपको अपनी मांसपेशियों और ताकत को बढ़ाने या बनाए रखने में मदद मिल सकती है।

 8.  आपके गिरने का जोखिम कम करें। पुराने वयस्कों के लिए, शोध से पता चलता है कि मध्यम-तीव्रता वाली एरोबिक गतिविधि के अलावा संतुलन और मांसपेशियों को मजबूत करने वाली गतिविधियां आपके गिरने के जोखिम को कम करने में मदद कर सकती हैं।

   9. अपनी नींद में सुधार करें। व्यायाम आपको तेजी से सो जाने और लंबे समय तक सोए रहने में मदद कर सकता है। अनिंद्रा की परेशानी आपको नहीं सताएगी.

   10. अपने यौन स्वास्थ्य में सुधार करें। नियमित व्यायाम से पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ED) का खतरा कम हो सकता है। उन लोगों के लिए जो पहले से ईडी हैं, व्यायाम उनके यौन कार्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। महिलाओं में, व्यायाम से यौन उत्तेजना बढ़ सकती है।

  11. अपने जीवन जीने की संभावनाओं को बढ़ाएं। अध्ययनों से पता चलता है कि शारीरिक गतिविधि मृत्यु के प्रमुख कारणों से जल्दी मरने के जोखिम को कम कर सकती है, जैसे हृदय रोग और कुछ कैंसर।

12. दवा से बेहतर है कसरत

कसरत करना शरीर के लिए सिर्फ अच्छा ही नहीं होता, बल्कि शरीर की जरूरत भी है. बड़ी से बड़ी बीमारी में भी कसरत ही सबसे फायदेमंद दवा है.

लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स और हावर्ड मेडिकल स्कूल की एक रिसर्च में कहा गया है कि कसरत शरीर पर दवा से भी ज्यादा असर दिखाती है. यहां तक कि दिल की बीमारियों और मधुमेह का भी कसरत से जितनी तेजी से इलाज हो सकता है, उतना किसी दवा से नहीं. यह शोध 3,39,000 लोगों पर किया गया. इन लोगों को दिल का दौरा, स्ट्रोक या मधुमेह की तकलीफ थी. इन सभी बीमारियों को बढ़ती उम्र के साथ जोड़ कर देखा जाता है. यानी जैसे जैसे उम्र बढ़े, कसरत करना उतना ही ज्यादा जरूरी हो जाता है.

ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में छपे इस शोध में कहा गया है कि ऐसा नहीं है कि कसरत के फायदों के बारे में पहले नहीं पता था, लेकिन पहली बार दवाओं के असर से इसकी तुलना कर के इसके फायदों को सुनिश्चित किया गया है. जिन लोगों पर शोध किया गया, उन में पाया गया कि टाइप टू डायबीटिज के शिकार लोगों के खून में शुगर की मात्रा कसरत करने से ही कम होने लगी. जब दवा से इसकी तुलना की गयी, तो पाया कि दवा लेने वालों में भी मात्रा उतनी ही कम हुई थी.

ये भी पढ़े : क्या आप खुद को महान मनाना चाहते है ?

ऐसे ही नतीजे उन लोगों में भी मिले जिन्हें दिल का दौरा पड़ा था. लेकिन दिल के काम बंद कर देने के मामले में डीयूरेक्टिक दवाओं का असर बेहतर देखा गया. ये ऐसी दवाएं होती हैं जिनसे शरीर में पानी ज्यादा बनता है. इस से खून की गति सामान्य हो पाती है. इन दवाओं का असर कसरत से ज्यादा तेजी से होता है.

साथ ही यह चेतावनी भी दी गयी है कि मरीज केवल कसरत को ही इलाज ना समझ लें और डॉक्टर की बताई दवा को भी नियमित रूप से लेते रहें. तो हो सकता है कि आईंदा जब आप डॉक्टर से मिलें तो वह दवा की पर्ची पर सुबह शाम दवा के साथ साथ सुबह शाम कसरत भी लिख दें.

आपको ये आर्टिकल ” कसरत का महत्व – व्यायाम के लाभ ” कैसा लगा जरुर बताये. हमें facebook page पर फॉलो जरुर करे.

Leave a Reply