फ़ायरवॉल क्या है? What is Firewall in hindi Types with Pdf

April 5, 2019 Application, Computer Tips
Share it :

हम बात कर रहें है की Firewall क्या है और क्यों जरुरी है. अगर आप एक computer या फिर laptop का इस्तेमाल करते है तो आपने कभी ना कभी इस चीज के बारे में सुना होगा या फिर सखा होगा. online networking इतना बढ़ गया है की हमें इसकी security के बारे में हर समय सोचना पड़ रहा है. हमें जाग्रत रहना पड़ता है की कहीं से मेरे computer या Smartphone में virus या फिर Malware ना घुस जाये. तो ये firewall एक सिक्यूरिटी प्रोग्राम का नाम है जो आपके computer system को security provide करता है.

फ़ायरवॉल क्या है? What is Firewall?

सामान्य सब्दो में बताये तो , computer Firewall एक software program है, जो निजी Network से unauthorized access को रोकता है। Firewalls एक टूल्स है जिसका उपयोग किसी नेटवर्क से जुड़े Computers की Security बढ़ाने के लिए किया जा सकता है, जैसे LAN या Internet । वे आपके नेटवर्क के लिए एक comprehensive security framework का एक अभिन्न हिस्सा हैं। firewall antivirus की तरह काम करता है और कई तरह की सिक्यूरिटी फ्री में प्रदान करता है.

what is firewall in hindi pdf note

Firewall कैसे काम करता है?

Firewall tools आपके कंप्यूटर को “wall of code” का उपयोग करके इंटरनेट से बिल्कुल अलग रखता है और डेटा सूक्ष्म निरीक्षण करता है. computer से बाहर जानेवाले और बाहर से commuter में आनेवाले प्रत्येक data का analysis किया जाता है. आपको alert करके आपकी अनुमति से allow करने के बाद ही आप ऐसे कोई भी data का इस्तेमाल कर सकते है.

Firewall Computer को Secure रखने के लिए एक व्यवस्था है जो सभी तरह के Computers और उसके networks को घुसपेठियों, hackers और malware से बचा कर रखता है. Firewall हमारे Computer को आक्रामक software से बचाती है जो चुपके से हमारे Computers के अन्दर आ जाती है और सभी personal details उस software को भेजने वाले hackers के पास पहुंचा देती है जो इसका बहुत गलत फायेदा उठाता है.

Firewall क्यों जरुरी है?

Firewall सिर्फ उन्ही चीजों को Computer आने के लिए जगह देता है जिसको हम यानि users आने के लिए Allow देते हैं इसके अलावा कोई भी malware या virus को अन्दर आने की इजाजत नहीं होती. ठीक उसी तरह अगर हमारे Computer में पेहले से virus मौजूद है और एक कमरे में बहुत सारे Computers एक साथ एक network में जुड़े हुए हैं तब भी firewall एक Computer के virus को दुसरे Computers तक जाने में रोकता है. इसका मतलब है की Firewall दोनों तरफ से सुरक्षा का काम करता है.

दूसरा काम firewall का ये है की अगर एक Computer में कहीं से भी virus आ जाता है तो वो virus उस Computer से निकल कर दुसरे Computer तक ना पहुँच सके इसका भी ख्याल firewall अच्छे से रखता है.

firewall के फायदे – Benefits of Firewall

Security Benefits :

firewall computer और अन्य Device के लिए विशेष रूप से इंटरनेट से जुड़े नेटवर्क पर, विशेष सुरक्षा प्रदान करते हैं। firewall software के बिना, attackers के लिए नेटवर्क के जरिये आपके कंप्यूटर पर दुर्भावनापूर्ण प्रोग्राम जैसे की malicious programs, virus भेजना बहुत आसान होगा, बिना firewall के आपके कंप्यूटर के anti-virus and anti-malware programs पर लोड होने में भी देरी लगती है. इन सभी से security देने का काम firewall करता है.

Monitoring With Firewalls:

Firewall logging process से network traffic का monitoring करता है. आपके network packets की बारीकी से जाँच करके destination, source and size का data analysis करता है. ये सभी लोग कहलाते है. इसके आपके नेटवर्क की सभी जानकारियां आपको मिल जाती है. मतलब आप पता कर सकते है की आपका कौन सा सॉफ्टवेर, Application या प्रोग्राम कितना data खर्च करता है.

Enforcing Policies:

ये सबसे बड़ा फायदा है. अगर आपका computer बच्चे भी इस्तेमाल कर रहे है और आप चाहते है की आपके नेटवर्क की कुछ सामग्री बच्चो तक ना पहुंचे, तो आप firewall rule blocking बनाकर कुछ keyword को Block कर सकते है. इस तरह आप अपने computer के किसी दुसरे user को भी rule blocking के जरिये सिक्योरिटी प्रदान कर सकते है.

Firewall के प्रकार – Types of Firewall

Firewall दो प्रकार के होते हैं एक है Software Firewall और दूसरा है Hardware Firewall.

Hardware Firewall

Hardware Firewall आज कल सभी Routers में पहले से ही मौजूद रहते हैं जिसका काम होता है एक computer से दुसरे Computer में virus को जाने से रोकना. जैसे मान लीजिये एक कमरे में 10 Computers एक ही network से जुड़े हैं और वहां पर जिस router या modem का इस्तेमाल किया जा रहा है उसमे Firewall को enable कर दिया गया है, तो जितने भी Computers उस router के साथ जुड़े हुए हैं उन सभी में अपने आप firewall काम करना शुरू कर देता है. जब भी computers के जरिये internet पर कुछ भी काम किया जाता है तो वहां पर firewall Computers को virus और malware से सुरक्षित रखता है. Computer से निकला हुआ हर एक request एक data packet के form में निकलता है और उसके साथ network का ID भी जुड़ा हुआ रहता है तो जब भी server से उस request का reply आता है तो वोही network ID उस packet के साथ जुड़ कर आता है जिससे की firewall को ये पता चल जाता है की वो data सही है. इसके अलावा कोई भी दूसरा packet अगर उस packet के साथ अन्दर घुसने की कोशिश करता है तो firewall उसे बाहार ही रोक देता है.

दूसरा काम firewall का ये है की अगर एक Computer में कहीं से भी virus आ जाता है तो वो virus उस Computer से निकल कर दुसरे Computer तक ना पहुँच सके इसका भी ख्याल firewall अच्छे से रखता है.

ये भी पढ़े : Best Antivirus For Your Computer Laptop

Software Firewall

नए generations के Windows Operating System में जैसे Windows 7, 8, 10, Vista, XP इत्यादि में Firewall पहले से ही inbuilt हो कर रहता हैं और वो by default “on” रहता है ताकि Computer पूरी तरह से सुरक्षित रह सके. आप चाहे तो Computers में इसकी settings को देख कर अपने जरुरत के हिसाब से बदल भी सकते हैं. इसके अलावा बहुत सारे antivirus भी internet में मौजूद हैं जैसे Avast, McAfee, Norton, QuickHeal इस्त्यादी इन सभी में भी firewall का काम एक ही है. जब भी हम अपने computers में नए software या games को install करते हैं तो एक popup box हमारे computer में दीखता है जिसमे firewall user से permission मांगता है की क्या आपको इस program को अपने computer में install करना है क्यूंकि Windows firewall ने इस program को block कर दिया है, तो हम चाहे तो उस option को tick कर program को install कर सकते हैं. Software firewall इसी तरह से computer में काम करते हैं और हमारे personal data को hackers से और virus से बचा कर रखते हैं.

ऊपर बताये गए मुख्य प्रकार है इसके आलावा भी इसे कई तरह से विभाजित किया जा सकता है. जो इसकी विशिष्ट कार्यप्रणाली को दर्शाते है.

Proxy firewall :

एक प्रारंभिक प्रकार का फ़ायरवॉल है. Device के माध्यम में काम करता है. एक प्रॉक्सी फ़ायरवॉल एक विशिष्ट अनुप्रयोग के लिए एक नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क के प्रवेश द्वार के रूप में कार्य करता है। प्रॉक्सी सर्वर नेटवर्क के बाहर से सीधे कनेक्शन को रोककर सामग्री content caching and security जैसी अतिरिक्त कार्यक्षमता प्रदान कर सकते हैं। हालाँकि, यह throughput क्षमताओं और उन अनुप्रयोगों को भी प्रभावित कर सकता है जिनका वे समर्थन कर सकते हैं।

Net banking Safety Tips

Stateful inspection firewall:

किसी एरिया जगह में नेटवर्क को block करने का काम करता है. ये एक traditional” firewall बन गया है. state, port, and protocol based ट्रैफिक को block और unblock कर सकता है.

Unified threat management (UTM) firewall:

सामान्य रूप से फ़ायरवॉल केवल ports और IP Address के आधार पर Traffic को फ़िल्टर्ड करता है। बाद में इसका विकसित होते हुए “stateful” नाम दिया गया, जिससे गुजरने वाले नेटवर्क कनेक्शन की हर स्थिति पर नज़र रखने लगा। UTM firewall से URL की फ़िल्टरिंग और virus – malware को scanning का काम करता है.

Firewall PDF Notes In Hindi

अगर आप किस पढाई के लिए इस firewall के notes को अपने मोबाइल में pdf version में save करना चाहते है तो यहाँ आपको इसका pdf यहाँ से डाउनलोड करे.

Download : Firewall PDF In Hindi

इस तरह से यहाँ आपको अपने computer system को सिक्योर रखने के लिए जरुर firewall tools के बारे में ” What is Firewall ” डिटेल्स दे जानकारी दी गयी है. प्रतिदिन इसमे नये version के साथ नयी security भी दी जाती है. तो यहाँ दी गयी जानकारी एक basic जानकारी है.

How To Work Firewall Work In Hindi video

अगर आपके मन में ये सवाल है की आपके computer में firewall सिक्यूरिटी है या नहीं कैसे चेक करे. firewall को कैसे enable – disable करे. firewall को कैसे install करे और Setup करे. तो इसकी जानकारी आपको दुसरे आर्टिकल में दी जाएगी.

firewall के रिलेटेड आपका कोई भी सवाल है तो हमें कमेंट में बताये. ” What is Firewall ” लेख आपको कैसा लगा जरुर बताये.

Leave a Reply