Essay Speech on Republic Day in Hindi – 26 जनवरी गणतंत्र दिवस भाषण

We are giving you the essay speech on republic day in Hindi here. 26 January speech is required in all schools and colleges. student Republic Day – Prajasattak din give some speeches of the day. Small children republic day in Hindi short essay speak. More Information re-public day in Hindi Wikipedia.  Read This 26 January Republic Day Speech On Hindi for Teachers and Students. ( 26 January Speech in Hindi Language )

Readers, 26 जनवरी ( republic day ) हमारा राष्ट्रिय त्यौहार है. वैसे तो हम कई त्यौहार मानते है पर जब अपने देश के लिए कुछ करने का जज्बा देनेवाले कुछ त्यौहार है इसमे republic day सबसे आगे है. हम इस दिन अपने देश के लिए प्राणों की आहुति देनेवाले देशभक्त को सलाम करते है. और हमारे देश के संविधान के प्रति अपना आदर व्यक्त करते है. 

इस दिन school – colleges में ध्वजवंदन के साथ साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होता है. इसमे Teachers/student speech on republic day के बारे में अपने विचार व्यक्त करते है. इसे वक्तृत्व या भाषण भी कहा जाता है.

Also Read :  Valentine Day Shayari Collection 

{Top 51} Happy Valentine Day Shayari in Hindi

Essay speech on republic day in Hindi

Speech on Republic Day in hindi me

आईये हम आपको यहाँ speech on republic day in hindi दे रहे है. इसे कही लिख ले. या print कर ले. इसे तैयार करके या फिर पढ़ के आप अपना भाषण दे सकते है.

आप चाहे तो इसमे कुछ और बातें भी जोड़ सकते है. या फिर cut कर सकते है. जिससे आप  speech on republic day काTime manage कर सके.

 26 जनवरी गणतंत्र दिवस भाषण 

26 January ka Bhashan Hindi Language

आदरणीय प्रधानाध्यापिका, अतिथिगण, शिक्षकों और सहपाठियों,

आज हम सब भारत का 69वां गणतंत्र दिवस मनाने के लिए यहां एकत्रित हुए है। हमारे साथ ही इस गणतंत्र दिवस की खुशियाँ, भारत के अन्य संस्थाओं, सरकारी और गैर सरकारी संस्थाओं, राज्य और केंद्रीय सरकारों के कार्यालयों आदि में मनाई जा रही होगी।

स्कूलों, कॉलेजों में इस राष्ट्रीय दिवस (गणतंत्र दिवस) को मनाने का एक विशेष महत्त्व है।

आज मैं आप सबके सामने गणतंत्र दिवस के बारे में अपना विचार प्रकट कर रहा हु / कर रही हु.

भारत (हमारा देश) 15 अगस्त 1947 को आजाद, स्वतंत्र हुआ। स्वतंत्र होने पर देश के कर्णधारों ने भारत का नया संविधान लागू किया। तभी से भारत का सर्वोच्च शासक राष्ट्रपति कहलाया। भारत का नया संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया। (जिसे बनाने में लगभग 2 साल 11 महीने और 18 दिन लगे थे।) और यही दिन भारत का गणतंत्र दिवस कहलाया। आज भी प्रति वर्ष 26 जनवरी को भारत में बड़े उत्साह के साथ गणतंत्र दिवस (republic day) मनाया जाता हैं।

इस संविधान के अनुसार भारत गणराज्य घोषित किया गया तभी से 26 जनवरी का दिन हर वर्ष गणतंत्र दिवस के रूप में पुरे भारतवर्ष में बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाने लगा और मनाया जा रहा है और आज भारत 2018 में अपना 69वां गणतंत्र दिवस मना रहा हैं।

26 जनवरी की तारीख का स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में विशेष महत्त्व है। वर्ष 1930 में रावी नदी के किनारे पर कोंग्रेस के लाहौर अधिवेशन में स्वर्गीय पंडित जवाहरलाल नेहरू ने पूर्ण स्वतंत्रता घोषणा की। 26 जनवरी 1930 को उन्होंने प्रतिज्ञा कि की “जब तक हम पूर्ण स्वतंत्रता प्राप्त न कर लेंगे तब तक हमारा स्वतंत्रता आंधोलन जारी रहेगा और इसे पाने के लिए हम अपने प्राणों की आहुति दे देंगे” इसी कारण 26 जनवरी का दिन भारत के गणतंत्र दिवस की घोषणा के लिए चुना गया।

इसके चलते, 26 जनवरी 1950 को भारत पूर्णरूपेण गणतंत्र राज्य घोषित कर गिया गया। इसी दिन हम पूर्ण रूप से स्वाधीन हो गए। उस दिन लार्ड माउंटबेटन (गर्वनर जनरल) की जगह पर डॉ. राजेंद्र प्रसाद हमारे राष्ट्र के पहले राष्ट्रपति बने। आज भी यह त्यौहार हमारे देश में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता हैं।

इस दिन (26 January) भारत की राजधानी नई दिल्ली में राष्ट्रपति की राजकीय सवारी निकाली जाती है। विजय चौक पर राष्ट्रपति जी जल, थल और वायु सेना की सलामी लेते हैं। तीनों सेनाओं की टुकडियां मार्च करती हुई लाल किले तक पहुंचती हैं। अनेक प्रांतों से आये सार्वजनिक नर्तक (public dancer) अपनी-अपनी वेशभूषा, पोशाक में अपने-अपने लोक-नृत्य प्रदर्शन और अलग-अलग प्रकार की झांकियों से अपना परिचय देते है और लोगों का मनोरंजन भी करते हैं।

26 जनवरी की शाम को आतिशबाजी छोड़ी जाती है और रात के समय सरकारी भवनों को चमकाया जाता है मतलब सरकारी भवनों पर रोशनी की जाती है। देश के सभी गांवों, नगरों, स्कूलों और कॉलेजों में बैठक, सभाएं (meetings) की जाती है। इन सभाओं में देश की एकता, अखण्डता और स्वतंत्रता को बनाए रखने की प्रतिज्ञा की जाती है और आपसे में मिल झूलकर रहने की सलाह दी जाती हैं।

इस प्रकार 26 जनवरी 1950 को देश में अपना संविधान, अपना राष्ट्रपति, अपनी सरकार और अपना राष्ट्रीय ध्वज हो जाने पर भारतवर्ष संसार का सबसे बड़ा गणतंत्र राष्ट्र बन गया और आज भी प्रतिवर्ष भारत में 26 जनवरी को बड़ी धूमधाम से गणतंत्र दिवस (republic day) मनाया जाता हैं।

अंत में मै बस यही कहना चाहूँगा की आओ मिल के कुछ ऐसा करे की भारत का झंडा हमेशा उचा रहे|

 || जय हिन्द , वन्दे मातरम || 

end – Speech on Republic Day in Hindi

Extraa Inning :

Republic day slogans in Hindi

गणतंत्र दिवस पर नारे हिंदी में

गांधीजी का सपना सत्य बना, तभी तो देश गणतंत्र बना!!

कश्मीर से कन्याकुमारी, भारत माता एक हमारी.

एक देश अपना भारत, जो बने श्रेष्ठ भारत.

चलो मिलकर अखण्ड भारत बनाये, जिसमे सभी को अधिकार दिलाये.

मेरे देश में एक तंत्र है, यहाँ पर एक गणतंत्र है.

देशभक्ति की अलख जगाये, चलो अब रिपब्लिक डे मनाये.

जब भी हम गणतन्त्र मनाएंगे, शहीदों को न भूल पाएंगे.

गाँधी जी का था यह सपना, हो गणतन्त्र देश भी अपना.

हमको मिला है एक संविधान, जिसमे है हमारा सुखी विधान.

वन्दे मातरम – भारत मात की जय .

Leave a Reply